Objection Quotes in Hindi आपत्ति पर अनमोल विचार  

Objection Quotes in Hindi – सफाई देने में अपना समय व्यर्थ न करें. लोग वही सुनते हैं जो वो सुनना चाहते है.

— अज्ञात

Objection Quotes in Hindi – दार्शनिक को भौतिक विज्ञानी के विश्वासों पर कोई आपत्ति नहीं है, जब तक वे दर्शन के रूप में उन्नत नहीं होते हैं.
— हंस 
Objection Quotes in Hindi
आपत्ति, चोरी, खुशी का अविश्वास, और विडंबना का प्यार स्वास्थ्य के लक्षण हैं. सबकुछ पूर्ण रोगविज्ञान से संबंधित है.
– फ्रेडरिक नीत्शे
Objection Quotes in Hindi-  आपत्ति जिस आपदा में अच्छी क्रिया से किसी प्रकार आत्मा की रक्षा न हो सके उसमें निषिद्ध कर्म भी करना चाहिए. क्योंकि जब सड़क पर वर्षा से कीचड़ हो जाती है. तब पंडित लोग भी कभी-कभी कुमार्ग से जाते है.
– श्रीहर्ष
हितैषी भी आती हुई आपत्तियों का हेतु बन जाता है, बछड़े के लिए माता की जंघा बन्धन का स्तम्भ बन जाती है.
– अज्ञात
आपत्तियाँ यों ही उपस्थित नहीं होती. वे तो परमात्मा की कृपा सूचित करती है. संकटों द्वारा हमें कसोटी पर कसने और उसमें सफल होने पर आगे का उन्नत मार्ग हमें दिखाने की इश्वरेच्छा उससे व्यक्त होती है.
-डा० केशव बलीराम हेडगेवार
Objection Quotes in Hindi –  सवर्ण के बने आभूषणों में निम्नलिखित गुण होते है- एक-सा रंग होना, भार व रूप आदि में  एक-दूसरे के समान होना, बीच में कहीं गाँठ आदि का न होना, टिकाऊ होना, अच्छी तरह साफ करके चमकाया हुआ होना, ठीक ढंग पर बना हुआ होना, विभक्त अवयवों वाला होना, धारण करने में सुखद होना, स्वच्छ, कान्तियुक्त व मनोहर आकृति वाला होना, एक-सा होना, मने व नेत्रो को आराम लगने वाला होना.
-चाणक्य
Objection Quotes in Hindi नारी का आभूषण शील और लज्जा है. बाह्य आभूषण उसकी शोभा नहीं बढ़ा सकते. –
बृहत्कल्पभाष्य
जो स्त्रियाँ सुन्दर नही होती है, वे अलंकारो से अपने को सजाती हैं और उनका सौन्दर्य अलंकारों पर ही निर्भर है. निसर्ग-सुन्दर मनुष्य को अलंकारों की अपेक्षा नही होती है, किन्तु अलंकार उसके सौन्दर्य को और अधिक उत्कृष्ट बनाते है.
-राजशेखर
यदि मुख् हास-पूर्ण है, नयनों में लास्य विद्यमान है मस्तक सिन्दूर के तिलक से शोभायमान है, नवीन वाणी है, दृष्टि हरि के समान है, तो अन्य अगणित आभूषणों से क्या लाभ ?
-अज्ञात
Objection Quotes in Hindi सोने,चांदी, माणिक, मोती, मूंगा आदि रत्नों से युक्त आभूषणों के धारण कराने से मनुष्य की आत्मा सुभूपित कभी नही हो सकती क्योंकि आभूषणों के धारण करने से केवल देहाभिमान, विषयासक्ति, विषयाक्ति और चोर आदि का भय तथा मृत्यु भी संभव है.
-दयानन्द
रोज-जर्जर शरीर पर अलंकारो की सजावट, मलिनता और कलुष के ढ़ेर पर बाहरी कुंकुम-केसर का लेप गौरव नहीं बढ़ाता.
-जयशंकर प्रसाद
माँ ! तुम बच्चे को राजा के समान वेषभूषा तथा मणि-रत्नहार पहनती हो इससे उसके खेल का सारा आनंद नष्ट हो जाता है. उसे ये वस्त्र ओर आभूषण भार बन जाते है.
-रवीन्द्रनाथ ठाकुर
Objection Quotes in Hindi
Objection Quotes in Hindi
कांतिहीन के अंग पर अलंकार भी अपने भाग्य को रोते है.
-तुकाराम
अल्प वैभव में व्यय की अधिकता उचित नहीं है.
-अज्ञात
विद्वत्ता, चतुराई और बुद्धिमानी की बात यही है कि मनुष्य अपनी आय से कम व्यय करे.
—अज्ञात

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *